वाणिज्यकर अधिकारियों ने मथुरा के चांदी कारोबारी से लूटे 43 लाख रुपये, केस दर्ज

वाणिज्यकर अधिकारियों ने मथुरा के चांदी कारोबारी से लूटे 43 लाख रुपये, केस दर्ज

वाणिज्यकर के अधिकारी और कर्मचारी आरोपों के कठघरे में हैं। मथुरा के चांदी कारोबारी से 43 लाख रुपये छीने गए। कारोबारी को धमकाया गया कि मुंह खोलने पर फर्जी मुकदमा लिखाकर जेल भेजवा देंगे। घटना के 12 दिन बाद पीड़ित कारोबारी ने एसएसपी से शिकायत की है। एसएसपी के आदेश पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं दूसरी तरफ विभागीय जांच में आरोपित अधिकारी और कर्मचारियों के नाम उजागर हो गए हैं। वाणिज्यकर कमिश्नर ने एसएसपी को भेजे पत्र में आरोपियों के नाम का खुलासा किया है।

मथुरा में गोविंद नगर क्षेत्र स्थित महाविद्या कॉलोनी निवासी प्रदीप अग्रवाल की विनायक ट्रेडर्स के नाम से फर्म है। वे श्रीहरि कांप्लेक्स गुड़हाई बाजार से चांदी के गहनों का व्यापार करते हैं। 22 अप्रैल को प्रदीप अपनी गाड़ी से चालक राकेश चौहान के साथ व्यापार के संबंध में बिहार के कटिहार गए थे। वहां पर उन्होंने 44 लाख रुपये के जेवरात बेचे। वापस लौटते समय उन्होंने 43 लाख रुपये एक थैले में रख लिए थे। थैला गाड़ी में था। एक लाख रुपये उन्होंने अपने खर्चे के लिए निकाल लिए थे।

मुकदमे के अनुसार घटना 22 अप्रैल की रात 10:15 बजे की है। प्रदीप अग्रवाल की गाड़ी लखनऊ एक्सप्रेस वे के फतेहाबाद टोल प्लाजा पर आई। यहां फास्ट टैग लेन से उनकी गाड़ी निकलने वाली थी। तभी वर्दी पहने एक सिपाही गाड़ी के सामने आ गया। उसने कहा कि साहब बुला रहे हैं। गाड़ी साइड से लगाकर साहब के पास चलो। पीड़ित कारोबारी के अनुसार सड़क किनारे उत्तर प्रदेश सरकार लिखी बोलेरो गाड़ी खड़ी थी। उसमें बैठे साहब ने चालक को अपने पास बैठा लिया। वहीं दूसरी तरफ सिपाही कारोबारी की गाड़ी में आकर बैठ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat